Do A Nice Thing For Your Future Self


Image of the Weekअपने भविष्य के लिए कुछ अच्छा करें
- एलिज़ाबेथ गिल्बर्ट

मेरा जन्म एक छोटे पारिवारिक खेत पर हुआ था, जहाँ पौधों और प्राणियों का हमेशा ध्यान रखना पड़ता था, इसलिए छुटियाँ मुश्किल थीं। पर एक बार गर्मियों में मेरे माता-पिता ने हमारे पड़ोस के किसान को हमारी बकरियों और मुर्गियों का ध्यान रखने को मन लिया और हमें एक पुरे हफ्ते के लिए समुद्र किनारे जाने को मिला। हमारे जाने की सुबह मेरी माँ ने बिस्तर से चादर हटाई, उसे धोकर सुखाया और फिर से बिस्तर पर चढ़ाया जैसे किसी आनेवाले अतिथि के लिए बिस्तर तैयार कर रही हो। मै कुछ समझ नहीं पायी। हमें मिलने कोई नहीं आनेवाला था, फिर इतना प्रयत्न क्यों करना? मेरे पूछने पर माँ ने बताया के मै अपने भविष्य को एक भेंट दे रही हूँ। इस तरह, जब वो छुट्टियां मना कर थकी हुई घर आएँगी तब उन्हें एक साफ़ तैयार बिस्तर मिलेगा।

मेरी माँ ने " मै " नहीं कहा था। मुझे ये अच्छा लगा के उन्हें अपने भविष्य के स्वरुप के प्रति मैत्री-पूर्ण करुणा का भाव है। मेरी माँ का स्पष्टता से मानना था के एक हफ्ते बाद उनका जो अंजना स्वरुप होगा वो प्रेम का अधिकारी होगा। अपने भविष्य के स्वरुप को साफ़ बिस्तर की भेंट देना एक महत्वपूर्ण बात थी : ये अपने भविष्य से सजगता से प्रेमपूर्वक हाथमिलाना था, इस क्षण की महिला को भविष्य की महिला से मिलाने का तरीका था।
मै ये सबक कभी नहीं भूली।
हमें अपने आप के प्रति करुणामय और उदार होने को कहा जाता है, पर ये करना हमेशा आसान नहीं होता। कई बार हम अपने आप को लायक नहीं समझते। अक्सर,वर्त्तमान की भाग-दौड़ में हम अपना मंगल करने में विफल हो जाते हैं, अपने आप को प्रेममय करुणा से वंचित रखते हैं। हम अपने आप को शीशे में देखते हैं और फिर हर उस मूर्खता पूर्ण काम या बात को याद करते हैं जो आज हमने किया या कहा था, और फिर हम तय करते हैं, ये तो एक मनुष्य रूपी कचरे का ढेर खड़ा है। उसके बाद आती है सजा, जो अनियंत्रित खाने से लेकर दूसरों की गालियां सुन्ना या अपना कर सही समय पर जमा न करने में से कुछ भी हो सकता है। जब आप अपने आप से इतनी घृणा करते हैं तब आप अपना बिस्तर क्यों बनाएंगे? आप तो एक मामूली कुत्ता हैं जिस सोने के लिए गीले कपडे का ढेर ही काफी है।

पर उस व्यक्ति का क्या जो आप एक हफ्ते? या महीने? या एक साल? में बनेंगे, उस अनजान-मासूम का क्या? उसने ऐसा तो क्या गलत कर दिया? कैसा होता अगर आप अपने भविष्य के स्वरुप को एक आनेवाले अतिथि की तरह देख पाते जो स्नेह और सहानुभूति का अधिकारी है? अगर आप प्रतिदिन अपने आप को देने के लिए एक भेंट सोच पाते - ऐसा कुछ जो आपके भविष्य के स्वरुप को उसके आने पर अपेक्षा, सुरक्षा और प्रेम का अनुभव करवाये?

ये कोई बहुत छोटा काम हो सकता है, जैसे अपने दांत साफ़ करना ( ये एक ऐसा उबाऊ काम है जो मै तब तक नहीं कर पाती जब तक मै अपने आप को न कहूं के " ये तुम्हारे लिए है, भविष्य की लीज़ !"), और बहुत बड़ा काम भी हो सकता है, जैसे धूम्रपान की आदत छोड़ना, या एक जहरीले-सम्बन्ध से बहार निकलना क्यूंकि आप नहीं चाहते के आप का भविष्य का स्वरुप आप के वर्त्तमान जितना भुगते।
अगर आप अपने लिए कुछ अच्छा नहीं कर सकते, तो क्या आप उसके लिए कुछ अच्छा कर सकते हैं? उस रहस्यमय और बिना दोष वाले भविष्य के स्वरुप को कभी आपकी आज बनायीं हुई दुनिया में रहना पड़ेगा। अलग शब्दों में कहें तो, बिस्तर आप लगा रहे हैं, पर सोना उसे पड़ेगा। इसलिए आज उसके साथ अच्छा व्यवहार करें। उसके साथ हररोज़ अच्छा व्यवहार करें।

याद रक्खें : आप उसके सबसे अच्छे मित्र हैं।

मनन के लिए बीज प्रश्न:
आप अपने भविष्य के स्वरुप के सबसे अच्छे मित्र हैं - इस विचार से आप कैसे जुड़ते हैं?
क्या आप एक निजी अनुभव हमारे साथ बाँट सकते हैं जब आपने अपने आप के प्रति करुणा और सानुभूति से कुछ किया हो?
अपने आप के प्रति स्नेह और सहानुभूति से काम ले ने में आप को क्या मदद करता है?


एलिज़ाबेथ गिल्बर्ट अमेरिकी लेखिका हैं जो अपने संस्मरण, ' Eat, Pray, Love ' के लिए जानी जाती हैं। यह लेख निचे दी गयी कड़ी से उद्धृत है:
http://www.oprah.com/inspiration/elizabeth-gilbert-why-you-need-to-treat-yourself
 

Elizabeth Gilbert is an American author best known for her memoir Eat, Pray, Love. Excerpted from here.


Add Your Reflection

26 Past Reflections