Staying In Your Own Business

Author
Byron Katie
46 words, 126K views, 83 comments

Image of the Weekअपने आपके व्यवसाय में रहना

इस दुनिया में मुझे केवल तीन प्रकार के व्यवसाय दिखाई देते है| मेरा, आपका और ईश्वर का| मेरे लिए ईश्वर का मतलब वास्तविकता है| वास्तविकता ही ईश्वर है, क्योंकी वही शासन करती है| कुछ भी जो मेरे नियंत्रण से बहार है, आपके नियंत्रण से बहार है और किसी अन्य के नियंत्रण से बहार है - में उसको ईश्वर का व्यवसाय मानती हुँ|

हमें ज्यादातर तनाव मानसिक रूप से अपने व्यवसाय से बहार रहने पर आता है| जब में सोचती हुँ "तुम्हे नौकरी लेनी चाहिए, में तुम्हे खुश देखना चाहती हुँ, तुम्हे समय पर आना चाहिए, तुम्हे अपना बेहतर ख्याल रखना चाहिए" तब में तुम्हारे व्यवसाय में हुँ| जब में भूकंप, बाढ़, युद्ध या तो फिर में कब मरने वाला हुँ, इसके बारे में सोचती हुँ तो में ईश्वर के व्यवसाय में हुँ| जब में मानसिक रूप से तुम्हारे या ईश्वर के व्यवसाय में होती हुँ तो उसका परिणाम जुदाई है|

मेने १९८६ में इस पर ध्यान दिया था| जब में मानसिक रूप से अपनी माँ के व्यवसाय में चली गयी थी, उदाहरण के तोर पर, एक विचार जैसे की "मेरी माँ ने मुझे समझना चाहिए" ये सोचते ही मेने तुरंत अकेलेपन को महसूस किया| मुझे यह अहसास हुआ की मेरी ज़िन्दगी में जब भी मुझे अकेलेपन या चोट का अनुभव होता है तो में किसी और के व्यवसाय में होती हुँ|

अगर आप अपनी ज़िन्दगी जी रहे हो और अगर में मानसिक रूप से आपकी ज़िन्दगी जी रही हुँ तो यहाँ मेरी ज़िन्दगी कौन जी रहा है? हम दोनों वहाँ है| मानसिक रूप से आपके व्यवसाय में होने से में वर्तमान में अपने आप में नहीं रह पाती| में अपने आप से अलग हो जाती हुँ और सोचती हुँ की मेरी ज़िन्दगी क्यों चल नहीं रही| यह सोचना की में सबके लिए अच्छा क्या है यह जानती हुँ - अपने आप के व्यवसाय से दूर रहने के बराबर है| प्रेम के नाम पर भी यह एक अज्ञानता है| क्या में यह जानती हुँ के मेरे लिए सही क्या है? वही मेरा व्यवसाय है| आपके पास आकर आपकी मुश्केलियो को हल करने से पहले मुज़े अपने व्यवसाय पर काम करने दीजिये| अगर आप तीन प्रकार के व्यवसाय को समझकर अपने व्यवसाय में बने रह सकते हो तो आपकी ज़िन्दगी आपने सोचा भी न हो उस तरह से मुक्त हो जाएगी|

अगली बार आप जब तनाव या निराशा का अनुभव करते हो तब अपने आप को पूछिये की आप मानसिक रूप से किसके व्यवसाय में हो और तब शायद आपको ज़ोर से हसी आ जाएगी| वह प्रश्न आपको अपने पास वापस ला सकता है| और आपको यह महसूस हो सकता है की आप कभी भी वर्तमान में नहीं थे, की आप ज्यादातर मानसिक रूप से किसी और के व्यवसाय में ही जी रहे थे| इस पर ध्यान देना की आप किसी और के व्यवसाय में जी रहे है, यह कई बार आपको आपके पास वापस ले आता है| और आप अगर कुछ समय तक इसका अभ्यास करेंगे, तो आपको समज़ में आएगा की आपके पास भी कोई व्यवसाय नहीं है पर आपकी ज़िन्दगी अपने आप ही पूरी तरह से अच्छी चल रही है|

बायरन केटी

विचार के लिए कुछ प्रश्न: अपने व्यवसाय में रहने का मतलब आप क्या समज़ते है? क्या आप कोई अपना अनुभव बता सकते है जब आपको यह जानकर की आप अपने व्यवसाय से अलग हो, कोई अंतःज्ञान प्राप्त हुआ हो? मानसिक रूप से किसी और के व्यवसाय में न रहने की जागरूकता को हम कैसे विकसित कर सकते है?


Add Your Reflection

83 Past Reflections