Welcoming The Stranger

Author
Wakanyi Hoffman
23 words, 7K views, 9 comments

Image of the Weekअजनबी का स्वागत
- वकानी हॉफमैन के द्वारा

मेरे पति, बच्चे और मैं पिछले डेढ़ दशक से 7 देशों में रह चुके हैं। हम हमेशा नए पड़ोसियों के दरवाजे पर दस्तक देने वाले अजनबी रहे हैं और साथ ही साथ नवागंतुक होने की मिश्रित भावनाओं की विचित्रता के साथ संवाद करते रहे हैं। समय के साथ, दुनिया के विभिन्नहिस्सों में बसने और घर जैसा महसूस करने के लिए बिना सुरक्षा के खुलने की क्षमता महत्वपूर्ण हो गई है। मुझे 2009 में नेपाल से फिलीपींस जाने के दौरान अजनबियों के बारे में एक सामयिक सबक याद है। हमारी सबसे बड़ी बेटी 3 साल की थी । वह काठमांडू की पिछली गलियों में सड़क के बाजारों जैसे सार्वजनिक स्थानों पर अजनबियों के साथ बातचीत करने की आदी थी। वह स्वाभाविकरूप से होटल के कर्मचारियों के पास गई और अपना परिचय दिया। फिर उसने हमारी पूरी पारिवारिक कहानी को प्रसारित किया, जिसमें विशिष्ट विवरण दिए गए थे जैसे: हमारी मिश्रित राष्ट्रीयताएँ, आयु, परिवार का आकार, उसके छोटे भाई का जन्मदिन, वह किस देश में पैदा हुई थी और यहाँ तक कि केन्या और अमेरिका में दादा-दादी कहाँ रहते थे। अगर उसने उन्हें याद कर लिया होता तो वह आसानी से हमारे फोन नंबर भी दे
देती !

यह पहली बार था जब हमें एहसास हुआ कि हमारी बेटी और उसका नन्हा भाई अजनबियों और परिचित चेहरों के बीच अंतर नहीं कर सकते। जहाँ तक 3 साल की छोटी बच्ची का सवाल है, वह जिस किसी से भी मिलती , वह उसके लिए एक दोस्त था। मैं अजनबियों के आसपास उसकी सहजता से असहज थी । फिर भी, मैं उसे अजनबी से खतरे के बारे में सिखाने के विचार से भी असहज थी ।

इसलिए हम एक समझौता लेकर आए। मुझे उसके दिल के अंदर के कमरे को "पढ़ने" के लिए सिखाने का एक तरीका मिला। मैं चाहती थी कि वह वास्तविक सुरक्षा बनाम वास्तविक खतरे को समझने के लिए अपने प्राकृतिक अंतर्ज्ञान का उपयोग करना सीखें। मैंने उससे कहा कि उसे तीन बार सांस लेनी है (उस समय वह 3 साल की थी) और सांस छोड़ते समय ध्यान देना था कि उसका दिल कितनी तेजी से या धीमी गति से धड़क रहा है। क्या उसने आराम या बेचैनी महसूस की? क्या वह पहचान सकती है कि कौन सी भावना सबसेप्रबल थी और क्यों? क्या उसका परिवेश सुरक्षित दिखता और महसूस करता था? वह तब तय कर सकती थी कि किसी अपरिचित चेहरे को अपनी कहानी बतानी है या नहीं। मैंने उससे कहा कि उसे पता होना चाहिए कि क्या उसका दिल अजनबी की कहानी के लिए जगह बना सकता है जैसे उसने एक अजनबी को उसके लिए जगह बनाने के लिए कहा।

तब मुझे समझ में आया कि अपने जीवन में एक बिल्कुल नए व्यक्ति का स्वागत करना सामूहिक मूल्यों के साथ जुड़ी एक विशेष जीवनशैली की सदस्यता लेने की कला है। जब हम सामाजिककरण करते हैं (अपने जीवन में अजनबियों से मिलने और आमंत्रित करने कीकला), तो हम अपने जैसे अन्य मनुष्यों के साथ आनंद लेने के लिए ऐसा करते हैं। हम साझा मूल्यों, समान सांस्कृतिक संदर्भों और यहां तक ​​कि समान जीवन के अनुभवों की तलाश करते हैं। हालाँकि, जब हम दूसरों के बारे में अधिक सोचते हैं या एक रूप रेखा बनाते हैं तो एक संभावना यह भी है कि हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि वे आपकी ही अपनी किसी ऐसी कहानी में फिट हों जिसे आप दुनिया के सामने पेश करना चाहते हैं।
अपने आप को प्रसन्न करने के लिए सामाजिककरण जीवन का एक तरीका नहीं हो सकता है ।

सामाजिककरण का महत्वपूर्ण हिस्सा आकस्मिक घटनाओं के लिए जीवंत और खुला रहना है जो कि हमारे सामूहिक मानवता केसर्वोत्तम संस्करण को प्रकट करने के बारे में नए विचारों को सांस देगा। यह निश्चित रूप से जानना असंभव है कि किसी अजनबी के लिए या हमारे भीतर की विचित्रता के लिए खुलने से आनंद या पीड़ा आएगी, लेकिन बार बार प्रयोग करते करते, हम प्रामाणिकता को पहचानने में माहिर हो जाते हैं - स्वयं में और दूसरों में।

एक छोटे बच्चे की तरह, हमें इस तरह से जीना है कि हमारी भावनाएँ और हमें मिलने वाले लोग उस प्रामाणिक जीवन से उभरें जो हम जी रहे हैं, नकारात्मक निर्णयों से मुक्त- अपने और दूसरों के बारे में। स्वीकार्य या आकर्षक बनने के लिए हमारे आंतरिक या बाहरी स्वरूप के बारे में कुछ भी व्यवस्थित करने की आवश्यकता नहीं है। बस वही हम हों जो हम पहले से हैं और उस स्थान को स्वीकार करना है , जिस जगह पर हम उस क्षण में हैं, जब हम उस नवीनता से मिलते हैं वो अजनबियों का स्वागत करने के लिए पर्याप्त है।

प्रतिबिंब के लिए बीज प्रश्न: आपने किस तरह की जीवन शैली अपनाई है, और आपका भौतिक जीवन आपके आंतरिक जीवन के साथ कैसे तालमेल बिठाता है? क्या आप कोई व्यक्तिगत अनुभव साझा कर सकते हैं जब आपने अपने भीतर की दुनिया का जायजा लिया और फिर अपने बाहरी कार्यों के साथ तालमेल बिठाया? आपके दिल के दरवाजे पर अजनबी का और आपके घर के दरवाजे पर अजनबी का , बिना किसी बंधन या निर्णय के सही मायने में स्वागत करने में आपको क्या मदद करता है?
 

Wakanyi Hoffman is an artist of life who paints the shades of each day as a storyteller, author, mother, global citizen, journalist, and keeper of indigenous wisdom.


Add Your Reflection

9 Past Reflections