Beauty Is The Very Nature Of The Kosmos

Author
Ken Wilber
32 words, 14K views, 16 comments

Image of the Weekसौंदर्य ब्रह्माण्ड की प्रकृति है
-- केन विल्बर के द्वारा

यदि विज्ञान हमें सत्य, या आत्मा का "वह", और नैतिकता हमें आत्मा का अच्छा, या "हम" देता है, तो सौंदर्य - जो देखने वाले की "आंख" में है - हमें आत्मा की "मैं" खोलने में मदद करता है। [...]

सबसे सुंदर व्यक्ति, जिसे आपने कभी देखा है, उसके बारे में सोचें। उस सटीक क्षण के बारे में सोचें, जब आपने उसकी आंखों में देखा था, और एक क्षण के लिए आपको जैसे लकवा मार गया था: आप वहां से अपनी दृष्टि नहीं हटा सकते थे। उस सुंदरता में जकड़े हुए, जैसे समय ठहर गया हो, आप उसे घूरते रहे। अब कल्पना कीजिए पूरे ब्रह्मांड में हर एक चीज से निकलने वाली वैसी ही समान सुंदरता की: हर चट्टान, हर पौधा, हर जानवर, हर बादल, हर व्यक्ति, हर वस्तु, हर पहाड़, यहां तक ​​कि कचरा का ढेर और टूटे सपने - हर एक वस्तु उस सुंदरता को उत्सर्जित कर रही है। आप अपने आस-पास उत्पन्न होने वाली हर चीज की कोमल सुंदरता से चुपचाप जमे हुए हैं। आप लोभ से मुक्त हो जाते हैं, समय से मुक्त हो जाते हैं, परिहार से मुक्त हो जाते हैं, पूरी तरह से आत्मा की नज़र में मुक्त हो जाते हैं, जहाँ, आप उस कला की अनुपम सुंदरता का चिंतन करते हैं, जो संपूर्ण विश्व है।

यह सर्वव्यापी सौंदर्य रचनात्मक कल्पना में एक अभ्यास नहीं है। यह ब्रह्मांड की वास्तविक संरचना है। यह सर्वव्यापी सौंदर्य सच में ब्रह्माण्ड की प्रकृति है। यह कुछ ऐसा नहीं है जिसकी आपको कल्पना करनी है, क्योंकि यह सभी क्षेत्रों में अनुभूति की वास्तविक संरचना है। यदि आप आत्मा की दृष्टि में रहते हैं, तो प्रत्येक वस्तु उज्ज्वल सौंदर्य की वस्तु है। यदि अनुभूति के दरवाजे साफ हो जाते हैं, तो पूरा ब्रह्माण्ड, आपका खो कर पाया जाने वाला, प्रिय, मौलिक सौंदर्य का मूल चेहरा है, हमेशा, और हमेशा के लिए, और अनंत तक के लिए। और उस तेजस्वी सौंदर्य के सामने, आप पूरी तरह से अपनी मौत में डूब जाएंगे, फिर कभी आपको देखा या सुना नहीं जाएगा, उन मृदु रातों को छोड़कर जब हवा धीरे-धीरे पहाड़ियों और पहाड़ों के माध्यम से चल रही है, चुपचाप आपका नाम बुला रही हो।


मनन के लिए प्रश्न: आत्मा की नजर में हर वस्तु के उज्ज्वल सौंदर्य की धारणा से आप कैसे सम्बद्ध हैं? क्या आप उस समय की एक व्यक्तिगत कहानी साझा कर सकते हैं जिसे आपने महसूस किया था कि आपके आस-पास की हर चीज़ का "सौंदर्य" आलोकिक है? आपके आस-पास के सभी "सौंदर्य" को देखने में क्या आपकी मदद करता है?

केन विल्बर की पुस्तक, 'वन टेस्ट' से।
 

From Ken Wilber's book, One Taste.


Add Your Reflection

16 Past Reflections