I Have Decided to Stick With Love

Author
Martin Luther King Jr.
22 words, 72K views, 15 comments

Image of the Week
मैंने प्यार से जुड़े रहने की ठानी है
-- मार्टिन लूथर किंग जूनियर (६ जनवरी, २०१६ )

मुझे एक बेहतर दुनिया की चिंता है। मुझे न्याय की चिंता है; मुझे भाईचारे और बहनचारे की चिंता है; मुझे सच्चाई की फ़िक्र है। और जब कोई इन चीज़ों के लिए चिंतित होता है, तो वो कभी हिंसा का पक्ष नहीं ले सकता। क्योंकि हिंसा के माध्यम से आप एक हत्यारे की हत्या कर सकते हैं, लेकिन आप हत्या की हत्या नहीं कर सकते। हिंसा के माध्यम से आप एक झूठे इंसान की हत्या कर सकते हैं, लेकिन आप सत्य की स्थापना नहीं कर सकते। हिंसा के माध्यम से आप एक नफरत करने वाले की हत्या कर सकते हैं, लेकिन नफरत की हत्या नहीं कर सकते। अंधेरा अंधरे को नहीं भगा सकता; केवल प्रकाश ही ऐसा कर सकता है।

और मैं आपसे कहता हूँ, मैंने भी प्यार से जुड़े रहने की ठानी है, क्योंकि मैं जानता हूँ कि अंततः प्यार ही मानव जाति की समस्याओं इकलौता जवाब है। और मैं जहां जाऊंगा मैं उसकी बात करूँगा। मुझे मालूम है कि आजकल कुछ जगहों पर उसके बारे में बात करना लोकप्रिय नहीं है। मैं जब प्यार की बात करता हूँ तो मैं भावुक बकवास की बात नहीं कर रहा; मैं एक मजबूत, कठोर प्यार की बात कर रहा हूँ। क्योंकि मैंने बहुत ज़्यादा नफरत देखी है। [...] और मैं अपने आप से कहता हूँ कि नफरत को सहन करना एक बहुत भारी बोझ है। मैंने प्यार करने का फैसला किया है। अगर आप उच्चतम भलाई की खोज में हैं, तो मेरे ख्याल से आप उसे प्यार के माध्यम से ढूँढ सकते हैं। और खूबसूरत बात ये है कि जब हम ऐसा करते हैं तो हम गलत रास्ते पर नहीं चल रहे, क्योंकि जॉन ने ठीक कहा था, ईश्वर प्रेम है। जो नफरत करता है वह भगवान को नहीं जानता, लेकिन जो प्यार करता है उसके पास परम वास्तविकता के अर्थ के द्वार को खोलने की कुंजी है।

और इसलिए दोस्तों, मैं आज आपसे यह कहता हूँ, कि भले ही आप इंसानों और फरिश्तों की ज़ुबान से बोलने में सक्षम हो सकते हैं; आपमें स्पष्ट अभिव्यक्ति की शक्ति हो सकती है; लेकिन अगर आपमें प्यार नहीं है, तो वो सब बेमतलब है। हाँ, आपमें भविष्यवाणी करने की योग्यता हो सकती है; आपमें वैज्ञानिक भविष्यवाणी करने और अणुओं के व्यवहार को समझने की योग्यता हो सकती है; आप प्रकृति के भंडार में घुस सकते हैं और बहुत से नए ज्ञान को सामने ला सकते हैं; हाँ, आप शैक्षिक उपलब्धियों की चरम सीमा पर पहुंच सकते हैं ताकि आपमें सब ज्ञान आ जाए; और आप अपने महान संस्थाओं और अपनी डिग्रियों की असीम हद की बड़ी-बड़ी बातें कर सकते हैं; लेकिन अगर आपमें प्यार नहीं है, तो इन सब चीज़ों का बिलकुल कोई अर्थ नहीं है। आप चाहे अपनी संपत्ति गरीबों को खाना खिलने के लिए दे दें; आप दान में महान उपहार प्रदान कर दें; आप परोपकार के ऊंचे शिखर पर पहुंच जाएं; लेकिन अगर आपमें प्यार नहीं है, तो आपके दान का कोई अर्थ नहीं है। आप अपने शरीर को जलाने के लिए दे दें और एक शहीद की मौत मर जाएं, और आपका बहा खून आने वाली पीढ़ियों के लिए सम्मान का प्रतीक हो जाए, और हजारों लोग इतिहास के महानतम नायकों में से एक के रूप में आप की प्रशंसा करें; लेकिन अगर आपमें प्यार नहीं है, तो आपका खून बेकार ही बहा। जो मैं आज की सुबह आपको दिखाने की कोशिश कर रहा हूँ वो यह है कि एक इंसान आत्म-त्याग में आत्म-केन्द्रित और आत्म बलिदान में आत्मतुष्ट हो सकता है। उसकी उदारता उसके अहंकार को बढ़ा सकती है, और शील उसके गर्व को बढ़ा सकता है। इसलिए प्यार के बिना, परोपकार अहंकार हो जाता है, और शहादत आध्यात्मिक गर्व हो जाती है।


विचार के लिए कुछ मूल प्रश्न: आप उस मज़बूत कठोर प्यार से क्या समझते है जिसके बारे में लेखक ने कहा है, जो "भावुक बकवास” नहीं है? क्या आप ऐसे प्यार का कोई अनुभव बाँट सकते हैं? स बारे में लेखक वार्ता क्या आप मजबूत की मांग प्यार से समझ में नहीं आता है कि नहीं है?" ऐसा कौनसा व्यावहारिक परीक्षण है जो यह जांचने में आपको मदद करता है कि आपका काम इस तरह के प्यार से भर गया है?

मार्टिन लूथर किंग जूनियर के भाषण, "हम यहाँ से कहाँ जाऐं?" के कुछ अंश
 

Excerpted from Martin Luther King Jr's ​speech, "Where do we go from here?"


Add Your Reflection

15 Past Reflections