Reveal Your Own Wholeness

Author
Carol Carnes
14 words, 32K views, 12 comments

Image of the Week
अपनी खुद की पूर्णता को प्रकट करो

हर प्रकार की मानसिक चिकित्सा रोगी के अंदर शुद्ध जीवन, या पूर्णता की उपस्थिति के बारे में जागरूकता पर आधारित है। आप ऐसा भी कह सकते हैं कि यह उस पूर्णता को सामने लाने की कोशिश है। यह किसी टूटी हुई चीज़ की मरम्मत नहीं है, बल्कि यह आम हदों को पार कर जाने का तरीका है। यह तो वो है जो बेआरामी की अस्थायी अभिव्यक्ति को पछाड़ती हुई, हमेशा पूरी तरह चैन से रहती है।

हम इसलिए बेहतर हो जाते हैं क्योंकि हममें कुछ ऐसा है जो बीमार नहीं है। हममें कुछ ऐसा है जिसमें कोई कमी नहीं है। हमारा एक ऐसा पहलू है जो कभी भी हैरान, आसक्त या खराब नहीं होता। अगर ऐसा न होता तो कभी कोई बेहतर न होता या ज़िंदगी में कोई बदलाव न ला पाता। मानव जीवन उन कहानियों का एक संग्रह है जो बताती हैं कि हम कैसे लगातार अपनी खुद की उच्च प्रकृति से प्रभावित होते रहते हैं! हमें बड़े-बड़े ख्याल आते है और हम उन्हें पूरा करते हैं। वे कहाँ से उठते है? हम अपनी जीवन-शैली को बदलने की ठान लेते हैं और अपने में ऐसा संकल्प करने की क्षमता ढूँढ लेते हैं, जिससे हमें अपने निर्णय पर अडिग रहने की शक्ति मिलती है। जब हम अपनी लतों के वष में हुए बैठे थे तब यह संकल्प कहाँ था? ए. ए. (ऐलकॉहोलिक्स एनोनिमस) की मीटिंग में कौन जाता है, पीने वाला या कि वो जो ये लत पहले से ही छोड़ चूका है।

हम जैसे-जैसे इस बात पर अपना ध्यान केंद्रित करते हैं कि हमारे बारे में सच क्या है, जो सच लगता था, उसमें कमज़ोरी दिखने लगती है। हमने सिर्फ यही सोचा था कि हमें बीमार और गरीब और अप्रिय ही होना था। हमें विशवास था कि हम अपनी लतों के सामने शक्तिहीन थे। हमने मान लिया कि हमें खुद को भावनात्मक रूप से बचाना होगा और हमें असली प्यार कभी नहीं मिल पाएगा। ये मानसिक अवस्थाएं इस भ्रम पर आधारित हैं कि हम परिणामों की दया पर निर्भर हैं। फिर एक दिन शायद कोई हमें यह दिखालाता है कि अपने अंदर रहने वाले कर्ता से कैसे मेल किया जा सकता है। उस क्षण में हम अपने जीवन की बागडोर अपने हाथ में ले लेते हैं। यही नए जीवन की शुरुआत है। उसी वक्त हमारा मन अपनी प्राकृतिक अवस्था में वापिस आ जाता है; जब हम ऐसे विचार और धारणाएं बनाते हैं जो अपने आप सभी क्षेत्रों में हमारे अनुभव की पूर्णता को प्रकट करते हैं।

अपने अंतःकरण से जुड़े रहें

विचार के लिए कुछ मूल प्रश्न: अपनी पूर्णता को प्रकट करने से आप क्या समझते हैं? क्या आप अपना कोई व्यक्तिगत अनुभव बांट सकते हैं जब आपने अपने अंदर के कर्ता से मेल बिठा लिया हो और आप अपनी पूर्णता को देख पाएं हों? आपको अपने अंदर मौजूद कर्ता से मेल करने में किस चीज़ से मदद मिलती है?
 

Carol Carnes learned an ancient meditation technique in Hawaii that opened her mind and began the emotional healing she needed to find her own potential. Shortly after learning to meditate she was led to a New Thought spiritual center where she found the intellectual basis for what her intuition had been sensing as true and reliable. â€‹Today she is a New Thought teacher, an ordained minister of International Centers for Spiritual Living, a world traveller who has been in the company of HH the Dalai Lama and other world leaders in small group dialogues.


Add Your Reflection

12 Past Reflections