Happy Birthday, Dear Sister

Author
Parag Shah
67 words, 20K views, 10 comments

Image of the Weekजन्मदिन की शुभकामनाएं, प्रिय बहन
पराग शाह


जन्मदिन की शुभकामनाएं, प्रिय बहन।
इस दुनिया के त्योहार में स्वागत है।

मैं इस दिन मौन-प्रार्थना करता हूं,
कि तुम्हें शून्यता का उपहार प्राप्त हो!

ऐसी शून्यता जिस में बोहोत जगह हो।
ब्रह्मांड की तरह जो इस वैश्विक जीवन को धारण करता है।

वह शून्यता जो किसी पते के बिना रहती है,
विजिटिंग कार्ड से भरी हुई इस दुनिया में।

वह शून्यता जो कोई पहचान नहीं जानती,
लेकिन जिसकी मौजूदगी उसकी उपस्थिती के लिए पर्याप्त है।

जहां हर कदम एक अनुग्रह है,
हर मुस्कुराहट एक आशीर्वाद है।

वह शून्यता।

शून्यता, जिसका कार्य पूर्णता से प्रवाहीत नहीं होता है,
लेकिन जो अपने आप में पूर्ण है।

शून्यता, जिसका सार सम्मान का मोहताज नहीं है,
लेकिन जो अपने आप में सम्मान है।

शून्यता, जिसका प्यार किसी मंज़िल की तरफ नहीं दौड़ रहा,
लेकिन जो अपने आप में सेवा है।

शून्यता, जो अशांति के कारण नहीं भाग रही है,
लेकिन जो अपने आप में स्थिरता है।

वह शून्यता, जो दूसरों के साथ संबंध में नहीं है,
लेकिन जो खुद एक संबंध है बिना किसी परायेपन के।

इस शून्यता की दुनिया को आज जरुरत है,
क्यूंकि, शून्यता की भेंट सभी से प्रेम है,
और सभी से प्रेम शून्यता की भेंट है।

जन्मदिन की शुभकामनाएं, प्रिय बहन

मैं इस दिन मौन-प्रार्थना करता हूं,
कि तुम्हें शून्यता का उपहार प्राप्त हो!

मनन के लिए प्रश्न :

शून्यता के आपके लिए क्या मायने हैं ?
क्या आप अपना शून्यता का अनुभव हमारे साथ बाँट सकते हैं ?
शून्यता में बने रहने में आपको क्या मदद करता है ?


पराग शाह द्वारा अपनी बहन के जन्मदिन के अवसर पर लिखित।

 

by Parag Shah, on the occasion of his sister's birthday.


Add Your Reflection

10 Past Reflections